81977: काफिरों को उनके त्योहारों की बधाई देना किसी भी रूप में जाइज़ नहीं है


उस खाना (चावल या मांस या चिकन या केक) के खाने का क्या हुक्म है जो एक ईसाई मित्र की ओर से हमें उपहार में दिया जाता है, जिसे उसने अपने व्यक्तिगत जन्मदिवस को मनाने या क्रिसमस के कारण या ईसइवी नव वर्ष दिवस के अवसर पर बनाया होता है ? तथा "हर वर्ष आप सकुशल रहें" या "शुभ वर्ष" कहने से बचने के लिए उसे इस प्रकार के वाक्य के द्वारा बधाई देने कि : यदि अल्लाह ने चाहा तो आप इस वर्ष सफलता को जारी रखेंगे" के बारे में आप का क्या विचार है ?

हर प्रकार की प्रशंसा ओर गुणगान अल्लाह के लिए योग्य है।

मुसलमान के लिए उस भोजन को खाना जाइज़ नहीं है जिसे यहूदी और ईसाई लोग अपने त्योहारों में बनाते हैं, या उसे अपने त्योहार के कारण उसको उपहार भेंट करते हैं ; क्योंकि यह इस बुरे काम में उनका सहयोग करने और उनके साथ भाग लेने में सम्मिलित है, जैसेकि इस तथ्य को प्रश्न संख्या (12666) में सपष्ट रूप से वर्णन किया गया है।

इसी प्रकार मुसलमान के लिए उन्हें उनके ईद (त्योहार) की बधाई देना जाइज़ नहीं है, चाहे यह बधाई किसी भी प्रकार के शब्दों में दी जाए ; क्योंकि इसमें उनके त्योहार को स्वीकारना और उनकी निंदा न करना पाया जाता है, तथा उनके प्रतीकों के प्रदर्शन और उनकी बिद्अतों (नवाचारों) के प्रचार व प्रसार (बढ़ावा देने) में उनकी सहायता करना, और उनके त्योहारों में उनकी खुशी बांटना पाया जाता है। जबकि ये मनगढ़ंत (नवाचारित) त्योहार हैं, जो कि अशुद्ध और भ्रष्ट आस्थाओं से संबंधित हैं जिन्हें इस्लमा स्वीकार नहीं करता है।

तथा प्रश्न संख्या (47322) भी देखिये।

और अल्लाह तआला ही सर्वश्रेष्ठ ज्ञान रखता है।
Create Comments