Sat 19 Jm2 1435 - 19 April 2014
 

बिद्अत


1 शिक्षक उनसे सबक से पहले 300 बार नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम पर दुरूद पढ़ने के लिए कहता है।.
82559
2 आशूरा और मीलाद के अवसरों पर परिवार का एकत्रित होना.
20889
3 तौहीद (एकेश्वरवाद) का अर्थ और उस के प्रकार.
49030
4 क्रिसमस के त्योहार में कुछ महिलाओं को उपहार भेंट करना.
13642
5  क्या सलातुत्-तसाबीह सही है ?.
14320
6 अली की क़ब्र की ज़ियारत का सत्तर हज्ज के बराबर होने का मिथ्यावाद.
9355
7 क्या अल्लाह से मांगने के लिए 100 बार सूरत फातिहा पढ़ना धर्मसंगत है ?.
3219
8 नास्तिकों (अविश्वासियों) की छवि अपनाने के नियम.
21694
9 एक ईसाई औरत अल्लाह के नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के जन्मदिन के बारे में प्रश्न करती है और मुसलमनों के लिए उस दिन का क्या महत्तव है ?.
13810
10 फ़र्ज़ नमाज़ों के तुरंत बाद दुआ करना बिद्अत है.
21976
11 उन मज़ारों और मस्जिदों पर जाना जिनमें अल्लाह के पैगंबर नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने नमाज़ पढ़ी है.
11669
12 क्या पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के लिए हज्ज करना जायज़ है ॽ.
109239
13 नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम को आज्ञाकारिता के सवाब भेंट करना.
52772
14 आशूरा का उत्सव मनाने या उसमें मातम करने का हुक्म.
4033
15 मनगढ़ंत त्योहारों (अवसरों) के मनाने का हुक्म.
10070
16 आशूरा के दिन अलंकरण और आभूषण का प्रदर्शन करना.
21642
17 सलातुस्साबीह के बारे में कोई भी हदीस सहीह नहीं है.
145112
18 तथाकथित खातमुश्शिफा (रोग निवारण खत्म) का हुक्म.
187877
19 बिना संगीत, गाने बजाने और हराम चीज़ों के पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के जन्म दिन की यादगार मनाने का हुक्म.
148053