Thu 24 Jm2 1435 - 24 April 2014
 

मोज़ो पर मस्ह करना


1 यदि मसह की अवधि समाप्त हो जाए या ऊपर का मोज़ा निकाल दे तो क्या वुज़ू टूट जायेगा ॽ.
100112
2 यदि उसने फज्र के समय मोज़ा पहना है तो क्या वह अगली फज्र तक उसपर मसह करेगा?.
97494
3  क्या बीमारी के कारण एक लंबी अवधि के लिए मोज़ों पर मसह करना जायज़ है?.
95230
4  क्या वुज़ू के दौरान दोनों पैरों को धोना फर्ज़ है या उन पर मसह करना ?.
69761
5 क्या गरमी में मोज़ों पर मसह करना जाइज़ है ?.
20431
6 मोज़ों पर मसह करने के बाद यदि उन्हें उतार दे तो क्या इससे उसकी तहारत (पवित्रता) नष्ट हो जायेगी ?.
45788
7 यदि आदमी बायें पैर को धोने से पहले दायें पैर में मोज़ा पहन ले तो क्या वह मोज़े पर मसह करेगा ?.
69866
8 उसने निवासी होने के बावजूद तीन दिन मसह किया तो क्या वह दो दिन की नमाज़ें दोहरायेगा ॽ.
69829
9 मोज़े का चमड़े का होना शर्त नहीं है.
13954
10 क्यो मोज़े उतारने से वुज़ू टूट जाता है ?.
26343
11 मोज़ों पर मसह करने की अवधि समाप्त होने के बाद पवित्रता का बाक़ी रहना.
21705
12 दोनों मोज़ो पर मसह करना सर्वश्रेष्ठ है या दोनों पैरों को धोना ?.
45535
13 मोज़ों पर मसह करने की शर्तें.
9640
14 मोज़े या जुर्राब पर मसह करने का तरीक़ा.
12796
15 उसने अपने मोज़ों पर मसह किया फिर उसे समय के समाप्त होने का याद आया तो क्या वह अपने पैरों को धोए या वुज़ू को दोहराये ॽ.
147897
16 क्या बीमार तथा जो व्यक्ति सलसुल-बौल का शिकार है उनके लिए मोज़ों पर मसह करने की अनुमति है ॽ.
162395
17 क्या विद्वानों की यह शर्त लगाने पर सर्वसहमति है कि मोज़े को दोनों टखनों को ढांकने वाला होना चाहिए?.
176866