नफ्ल (स्वेच्छिक) रोज़े

176290 - आशूरा का रोज़ा केवल छोटे गुनाहों को मिटाता है, बड़े गुनाहों के लिए तौबा ही है 21776 - अकेले आशूरा के दिन का रोज़ा रखने का हुक्म 21785 - आशूरा के साथ नवें मुहर्रम का रोज़ा रखना मुसतहब है 21775 - आशूरा के रोज़े की फज़ीलत 21311 - मुहर्रम के महीने में अधिक से अधिक नफ्ल रोज़े रखने की फज़ीलत 174705 - उसने शव्वाल के छः रोज़े रखे और वह रोज़े को निरंतर जारी रखना चाहती है 130136 - नज़्र (मन्नत) के रोज़े को शव्वाल के छः दिनों के रोज़ों पर प्राथमिकता प्राप्त है ? 106468 -    क्या शव्वाल के छः रोज़ों को सोमवार और जुमेरात के दिन रखा जा सकता है ॽ 7859 - शव्वाल के छः रोज़ों की फज़ीलत 7860 -  मुसलमान शव्वाल के छः रोज़ों की शुरूआत कब करेगा ॽ 41901 - क्या वह नफ्ल रोज़े रख सकती है जबकि उसके ऊपर रमज़ान के कुछ दिनों के रोज़े बाक़ी हैं ॽ 21694 - नास्तिकों (अविश्वासियों) की छवि अपनाने के नियम 172034 - क़सम का कफ्फारा अनिवार्य होने के साथ सोमवार और जुमेरात का रोज़ा रखना 23429 - रमज़ान के रोज़े की क़ज़ा से पहले स्वैच्छिक रोज़ा रखना 7865 - क्या शव्वाल के रोज़े प्रति वर्ष रखने ज़रूरी हैं ? 4015 - शव्वाल के छ: रोज़ों और अय्यामे बीज़ के रोज़ों को एक ही नीयत में एकत्रित करना 34780 - क्या शव्वाल के छ: रोज़े रखना मक्रूह है जैसाकि कुछ विद्वानों का कहना है ?