Mon 21 Jm2 1435 - 21 April 2014
 

हज्ज और उम्रा करने वालों से होने वाली गलतियाँ


1 काबा के पर्दे, मुसहफ (क़ुर्आन) और हज्र असवद (काले पत्थर) को चूमने का हुक्म.
21392
2 क्या पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के लिए हज्ज करना जायज़ है ॽ.
109239
3 मस्जिद नबवी में चालीस नमाज़ें पढ़ने की फज़ीलत के बारे में वर्णित हदीस ज़ईफ है.
34752
4 यौमुत् तर्वियह को हज्ज का एहराम बाँधने में होने वाली गलतियाँ.
34270
5 शहीदों की समाधि स्थलों की ज़ियारत करना.
34358
6 हज्ज और उम्रा में ज़ुबान से नीयत करना.
31821
7 तवाफ का आरंभ काबा के द्वार से करना.
33786
8 उसकी छोटी बच्ची ने दो चक्र तवाफ किया और बीमारी के कारण उम्रा मुकम्मल नहीं किया.
37995
9 अरफा की पहाड़ी का नाम “जबल रहमत” (रहमत की पहाड़ी) रखने का हुक्म.
34154
10 औरत का महिलाओं के समूह में बिना महरम के हज्ज करना.
34380
11 एहराम बाँधनेवाले से होने वाली गलतियाँ.
33738
12 ऐसे मृतक बाप की ओर से हज्ज करना जो नमाज़ नहीं पढ़ता था.
36577
13 काबा को स्पर्श करना.
36644
14 मृतकों की ओर से क़ुर्बानी करना.
36595
15 मस्जिदे नबवी की ज़ियारत में होनेवाली गलतियाँ.
36647
16 दुआ के समय नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की समाधि की ओर मुँह करना धर्मसंगत नहीं है.
109224
17 वह मक्का से यात्रा करना चाहता है फिर भीड़ कम होने के बाद वापस आकर बिदाई तवाफ करेगा.
14307
18 विदाई तवाफ में होने वाली गलतियाँ.
36823
19 कुछ हाजी लोग मशाइर मुक़द्दसा (पवित्र स्थलों) में तस्वीरें लेते हैं.
109232
20 हरम में प्रवेश करते समय होने वाली गलतियाँ.
34869
Go to page: