NewFatwas

1 वकालत का पेशा अपनाने वाले व्यक्ति का कर्तव्य
2 यौन उत्तेजक औषधियाँ और उनके सेवन का हुक्म
3  उसका अपने जन्मदिन के अवसर पर जिसे उसके परिवार वाले आयोजित करते हैं, उपहार स्वीकार करने और मिठाई खाने का हुक्म
4 क्या हमारे सभी मामलों को अल्लाह को सौंपना अनिवार्य है?
5 इस्लाम धर्म में प्रवेश करना और उसके धर्मशास्त्र का पालन करना किस व्यक्ति के लिए अनिवार्य हैॽ
6 एक विद्यार्थी लोगों को उनके सवालों के जवाब में विद्वानों के फत्वे बताता है और वह इसके हुक्म के बारे में शंकित है।
7 क्या सोने से पहले सूरतुल मुल्क सुनने वाले को उसका पाठ करने वाले की तरह अज्र (पुण्य) मिलेगाॽ
8 ख़ुलअ, तलाक़ और फ़स्ख़ के बीच अंतर
9 दुआ और क़ुरआन का पाठ करने के लिए इकट्ठा होने का हुक्म
10 एक मुसलमान बुरे आचार से कैसे छुटकारा प्राप्त करे, तथा शिष्टाचार से कैसे सुसज्जित हो?
11 उसने अज्ञानता में क़िब्ला के विपरीत दिशा की ओर नमाज़ पढ़ी
12 विशेष अवसरों पर मोबाइल संदेशों का हुक्म
13 क्रिसमस के मौसम में कीमतों पर छूट का लाभ उठाने के लिए काफ़िरों के त्योहारों के दौरान कपड़ों और अन्य वस्तुओं को खरीदने का हुक्म
14 क्या उसके लिए काफिरों के त्योहारों से संबंधित उपहारों की बिक्री में काम करने की अनुमति हैॽ
15 वुज़ू के फराइज़ और उसकी सुन्नतें
16 यौन उत्तेजक औषधियों के इस्तेमाल करने का हुक्म
17 विद्यार्थी के शिष्टाचार
18 विधर्मिक अवसरों पर आयोजित प्रतियोगिताओं के पुरस्कार
19 अपने जन्मदिन पर और पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के जन्मदिन पर रोज़ा रखना
20 संपूर्ण स्नान और पर्याप्त स्नान का तरीक़ा
21 ऐसे चुटकुलों के खिलाफ चेतावनी जिनमें क़ुरआन करीम की कुछ सूरतों का उपहास पाया जाता है।
22 धार्मिकता के मार्ग की शुरुआत में एक युवा को उपदेश
23 वुज़ू तोड़नेवाली चीज़ें
24 क्या तीव्र ठंड के दिनों में जनाबत से तयम्मुम करने की अनुमति है?
25 क्रुद्ध व्यक्ति का तलाक़
26 मैं अल्लाह तआला के नाम “अल-आला” के अनुसार कैसे अमल करूँ
27 क्या क़ज़ा व क़दर के बीच कोई अंतर पाया जाता है?
28 केवल नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के अवशेष से तबर्रुक लेना जायज़ है, किसी अन्य के नहीं
29 अपने ग़ैर मुस्लिम माता पिता के साथ बैठने का हुक्म जब कि वे दोनों शराब पीते हों
30 एक नयी मुस्लिम युवति ने अपने माता पिता की जानकारी के बिना एक मुसलमान आदमी से शादी कर ली
31 अल्लाह के महीने मुहर्रम की प्रतिष्ठा
32 ख़ुलअ की परिभाषा और उस का तरीक़ा
33 यदि क़ुरबानी का जानवर ज़बह करने से पहले क्षतिग्रस्त हो जाए तो उसका क्या हुक्म है?
34 यदि घर का मुखिया क़ुर्बानी करने से मना कर दे तो क्या महिला के लिए अपनी ओर से और अपने घर वालों की ओर से क़ुर्बानी करने की अनुमति है?
35 तश्रीक़ के दिनों में अनिवार्य रोज़े की क़ज़ा करना सही नहीं है
36 रमज़ान की क़ज़ा और आशूरा या अरफ़ा के रोज़े को एकत्रित करना
37 क्या क़ुर्बानी करने वाला क़ुर्बानी का जानवर ज़बह करते समय अपनी ज़ुबान से नीयत के शब्द का उच्चारण करेगा?
38 क़ुर्बानी के जानवर को ज़बह करते समय क्या कहा जाएगा?
39 क्या क़ुर्बानी का गोश्त काफिर को देना वैध है?
40 तश्रीक़ के दिनों के रोज़े का हुक्म
41 क़ुर्बानी के जानवर से क्या खाया जाएगा और क्या वितरित किया जाएगा
42 क़ुर्बानी की क़ीमत के बराबर सदक़ा करने की तुलना में क़ुर्बानी करना अफ़ज़ल है।
43 क्या हाजी पर क़ुर्बानी अनिवार्य है?
44 क़ुर्बानी करनेवाले के परिवार के लिए ज़ुल-हिज्जा के पहले दस दिनों में अपने बालों और नाखूनों को काटना जायज़ है
45 अरफा में ठहरने के लिए पवित्रता शर्त नहीं है
46 हाजी कब क़ुर्बानी करेगा?
47 क्या ईद के दिन सहित ज़ुल-हिज्जा के दस दिनों के रोज़े रखना मुस्तहब हैं?
48 ग्रहण की नमाज़ का तरीक़ा
49 हज्ज में पहला और दूसरा तहल्लुल
50 वे कौन लोग हैं जिन्हें मिना में रात न बिताने के लिए छूट दी गई है?
51 अरफा की ओर जाने में और अरफा में होने वाली गलतियाँ
52 जमरात को कंकड़ मारने का समय
53 उससे गलती हो गई और वह ज़ुल-हिज्जा के ग्यारहवें दिन ही मिना से वापस आ गया
54 तवाफ़ की शर्तें और वाजिबात
55 हज्ज करने के लिए मासिक धर्म चक्र को विलंब करना
56 क्या उसके लिए जायज़ है कि वह केवल उम्रा का एहराम बांधे फिर मक्का से हज्ज की नीयत करे?
57 हज्ज करने के लिए पति से अनुमति लेना
58 हवाई जहाज़ का यात्री एहराम कब बांधेगा?
59 महिला के लिए मह्रम के साथ ही हज्ज के लिए यात्रा करने की अनुमति है।
60 मासिक धर्म वाली महिला मीक़ात से लेकर हज्ज के अंत तक क्या करेगी
61 जो व्यक्ति हज्ज या उम्रा करना चाहता है वह मीक़ात पर क्या करेगा?
62 बच्चों को पढ़ाने और उन्हें अल्लाह की ओर आमंत्रित करने का सही तरीक़ा क्या हैॽ
63 उसने इफ्तारी करने के बाद मासिक धर्म का ख़ून देखा परन्तु उसे संदेह है कि यह ख़ून इफ्तारी से पहले आया था या इफ्तारी के बाद आया है?
64 अल्लाह तआला के सिफात की तावील (अपनी इच्छा के अनुसार व्याख्या) करनेवाले का हुक्म
65 वे कौन से महारिम हैं जिनके सामने औरत पर्दा के बिना रह सकती है
66 क्या शव्वाल के छः रोज़ों को निरंतर व लगातार रखना शर्त है
67 रमज़ान में दिन के दौरान उसने अपनी पत्नी को संभोग के लिए मजबूर किया, पर उसने प्रतिरोध किया फिर आत्मसमर्पण कर दिया, तो क्या उस औरत पर कफ्फारा अनिवार्य है?
68 क्या वह शव्वाल के छः रोज़े रखना शुरू कर सकता है जबकि उसके ऊपर रमज़ान की क़ज़ा बाक़ी है
69 ईदुल अबरार नामक त्योहार की बिद्अ़त
70 उसने उस दिन रोज़ा तोड़ दिया जिस दिन वह अहने शहर वापस लौटने का इरादा रखता था
71 शव्वाल के महीने के दूसरे दिन रोज़ा रखना जायज़ है।
72 क्या मुस्लिम पति पर अपनी ईसाई पत्नी की ओर  से ज़कातुल-फित्र निकालना अनिवार्य हैॽ
73 ईदैन की नमाज़ का हुक्म
74 ईद की नमाज़ में इमाम तक्बीर (अल्लाहु अक्बर) क्यों कहता है?
75 श्रमिकों की ओर से ज़कात निकालना
76 शहर में एक से अधिक ईद की नमाज़ का आयोजन
77 एक अवधि पूर्व ज़कातुल फित्र का अनाज खरीदने का हुक्म
78 मस्जिद में ठहरना पुण्य और प्रतिष्ठा का कार्य है, भले ही वह एतिकाफ़ न हो
79 साइनस (प्रतिश्याय) रोग से ग्रसित व्यक्ति के गले से नीचे उतरने वाला बलग़म उसके रोज़े की शुद्धता को प्रभावित नहीं करता है
80 रमज़ान के प्रतिष्ठित महीने के लिए विशिष्ट ज़िक्र व अज़कार वर्णित नहीं हैं
81 पश्चिमी देशों मे बच्चों और उनके विचारों की सुरक्षा
82 दुआ के कुछ शिष्टाचार
83 इस्तिख़ारा की नमाज़ का तरीक़ा और उसमें पढ़ी जाने वाली दुआ की व्याख्या
84 रोज़ा तोड़ने और नमाज़ क़स्र करने को जायज़ ठहराने वाले यात्रा की सीमा
85 उसने शहर के लोगों का अनुकरण करते हुए 31 दिनों का रोज़ा रखा, फिर उसी दिन के दौरान उसने यात्रा किया और यात्रा की वजह से उसने रोज़ा तोड़ दिया, क्या उसके लिए क़ज़ा करना अनिवार्य हैॽ
86 पेट से पलट कर आनेवाले भोजन का रोज़े पर प्रभाव
87 हम रमज़ान के महीने के आगमन के लिए तैयारी कैसे करेंॽ
88 रोज़े के स्तंभ
89 रमज़ान के रोज़ों की क़ज़ा में निरंतरता अनिवार्य नहीं है
90 रजब के महीने में उम्रा करना
91 इस्रा और मेराज की रात का जश्न मनाना
92 फ्रांस की निवासिनी महिला नक़ाब उतारने के हुक्म के बारे में सवाल कर रही हैं
93 क्या नाजायज़ (अवैध) बच्चे की ओर से अक़ीक़ा किया जाए गाॽ
94 वह अपने कार्यों को कैसे पूरा करे ॽ
95 तस्बीह के शब्द "सुब्हानल्लाह व बि-हम्दिही" का अर्थ
96 दुआ के स्वीकार्य होने के समय और स्थान
97 ईसाइयों को उनके त्योहारों के अवसर पर बधाई देना
98 उपासना प्रेम (श्रद्धा) और सम्मान का नाम है, यह कष्ट और कठिनाई नहीं है
99 क्या किसी एक मत का पालन करना अनिवार्य है
100  एक ईसाई लड़की को इस्लाम स्वीकार करने का निर्णय लेने में कठिनाइयों का सामना