शुक्रवार 6 रबीउस्सानी 1440 - 14 दिसंबर 2018
Hindi

क़ज़ा और कफ्फारा (परायश्चित)

26860

06-05-2018

रमज़ान के छूटे हुए रोज़ों की क़ज़ा करने की नीयत से शक के दिन रोज़ा रखना

06-05-2018

21710

24-04-2018

रोज़े की क़ज़ा में विलंब करना

24-04-2018

21049

31-08-2017

तश्रीक़ के दिनों में अनिवार्य रोज़े की क़ज़ा करना सही नहीं है

31-08-2017

21697

16-05-2017

रमज़ान के रोज़ों की क़ज़ा में निरंतरता अनिवार्य नहीं है

16-05-2017

49884

21-05-2016

शाबान के दूसरे अर्ध भाग में रमज़ान के छूटे हुए रोज़ों की क़ज़ा करने में कोई आपत्ति की बात नहीं है

21-05-2016

4082

22-08-2012

क्या महिला को रमज़ान की क़ज़ा से शुरूआत करनी चाहिए या शव्वाल के छ: रोज़े से ?

22-08-2012

11539

05-08-2011

सख्त गर्मी में काम करने की वजह से रोज़ा तोड़ देने वाले का हुक्म

05-08-2011

40389

28-09-2010

यदि शेष दिन पर्याप्त नहीं हैं तो क्या वह क़ज़ा करने से पहले शव्वाल के छ: रोज़े से शुरूआत करेगा ?

28-09-2010

22960

01-09-2010

हुक्म न जानने के कारण रमज़ान के दिन में अपनी पत्नी से कई बार संभोग कर लेने वाले का हुक्म

01-09-2010

26866

30-08-2010

बिना किसी कारण के रमज़ान में जानबूझ कर रोज़ा तोड़ देना

30-08-2010

प्रतिक्रिया भेजें