शुक्रवार 30 मुहर्रम 1442 - 18 सितंबर 2020
हिन्दी

पैंट से जुड़े हुए मोज़े पर मसह करने का क्या हुक्म हैॽ

प्रश्न

पैंट से जुड़े हुए मोज़े पर मसह करने का क्या हुक्म है (स्पष्टीकरण : जैसे कि बेली डांसर द्वारा पहना जाता है)ॽ क्या इसे 'इस्बाल' [पतलून को टखने से नीचे रखना] माना जाएगाॽ

उत्तर का पाठ

हर प्रकार की प्रशंसा और गुणगान केवल अल्लाह तआला के लिए योग्य है।.

मोज़ों पर मसह करना जायज़ है, अगर वे टखनों को ढकते हैं और उन्हें संपूर्ण शुद्धता (वुज़ू) की स्थिति में पहना है। अर्थात जिसमें उसने अपने पैरों को धोया है। फिर इसके बाद अगर वह चाहे तो उनपर मसह कर सकता है।

मोज़ों पर मसह करने की शर्तों और उसकी विधि के बारे में जानकारी के लिए, प्रश्न संख्या : (12796) और (9640) देखें।

यदि मोज़ा पैंट से जुड़ा हुआ है, तो इससे कोई फर्क़ नहीं पड़ता। तथा इस पैंट को पहनना 'इस्बाल' (पैंट को टखने से नीचे रखना) नहीं माना जाएगा।

और अल्लाह ही सबसे अधिक ज्ञान रखता है।

स्रोत: साइट इस्लाम प्रश्न और उत्तर